Diabetes ka Ilaj: डायबिटीज ठीक करने के 3 घरेलू नुस्खे

आज के इस पोस्ट में डायबिटीज क्या है, Diabetes ka Ilaj और डायबिटीज ठीक करने के 3 घरेलू नुस्खे के बारे में

डायबिटीज और शुगर को मधुमेह की बीमारी भी कहा जाता है। ये बीमारी खराब जीवनशैली के कारण और अनुवाशिंक भी होती है। शुगर के मरीजों को अपने खाने-पीने का विशेष ध्यान रखना चाहिए। ऐसे में इसकी जांच कर लेवल का पता लगाते रहना चाहिए । अगर मधुमेह का लेवल बहुत ज्यादा बढ़ जाए या फिर बहुत ज्यादा कम हो जाए, तो दोनों ही स्थिति में मरीज की सेहत पर खतरा मंडराता है। ये दोनों ही स्थितियां जानलेवा मानी जाती हैं। क्योंकि शुगर के मरीज का ब्लड शुगर लेवल का ना तो सामान्य से अधिक होना ठीक रहता है और ना ही सामान्य से कम होना ठीक रहता है।

Diabties kya h

जब शरीर के पैन्क्रियाज में इन्सुलिन की कमी हो जाती है, मतलब कम मात्रा में इन्सुलिन पहुंचता है, तो खून में ग्लूकोज की मात्रा भी ज्यादा हो जाती है। इसी स्थिति को डायबिटीज कहते हैं। इन्सुलिन एक तरह का हार्मोन होता है। जो शरीर के अंदर पाचन ग्रंथि से बनता है। इसका काम भोजन को ऊर्जा में बदलना होता है। ऐसे में मधुमेह के मरीज को कब और क्या खाना है विशेष ध्यान रखना चाइए । इससे ब्लड शुगर का लेवल नियंत्रित रहता है। इसके लिए डॉक्टर दवाएं देते हैं और कई घरेलू नुस्खे भी हैं, जिनकी मदद से मधूमेह को नियंत्रण में रखा जा सकता है।

Diabetes ka Ilaj

डायबिटीज के चक्कर में फं गए। कुछ समझ में नहीं आ रहे क्या करें?

जिस मौसम में आंवले रहते हैं उस समय आप आंवले का ताजा रस निकालकर काम में लें तो और भी अच्छी है ।घर पर आंवले का रस निकालने के लिए आंवलो को अच्छी तरह धो लीजिए।फिर आंवलो को काटकर इनकी गुठलियां निकालकर अलग कर दीजिए।फिर इन आंवलो को मिक्सी में थोड़े पानी के साथ पीसकर छान लीजिए।स गए।

1. डायबिटीज का एक असरदार इलाज आंवले के रस से होता है।डायबिटीज होने पर एक चम्मच आंवले के रस में एक चुटकी हल्दी पाउडर मिलाकर पीना चाहिए।आंवले का रस आजकल बहुत आसानी से बाज़ार में मिल जाता है। आप आंवले का रस बाजार से खरीद सकते हैं।

आंवला Diabetes ka Ilaj

जिस मौसम में आंवले रहते हैं उस समय आप आंवले का ताजा रस निकालकर काम में लें तो और भी अच्छी है ।”

घर पर आंवले का रस निकालने के लिए आंवलो को अच्छी तरह धो लीजिए।

फिर आंवलो को काटकर इनकी गुठलियां निकालकर अलग कर दीजिए।

फिर इन आंवलो को मिक्सी में थोड़े पानी के साथ पीसकर छान लीजिए।

इस तरह आंवले का ताज़ा रस निकल आएगा।अगर आपके पास जूसर है तो आप उसमें भी आंवले का रस निकाल सकते हैं। आप आंवले के इस रस को बोतल में भरकर फ्रिज में रख सकते हैं और रोजाना काम में ले सकते हैं।

आंवले के इस रस को कैसे और कब लेना है।

एक चम्मच आंवले का रस एक कटोरी में लीजिए ।इसमें एक चुटकी हल्दी पाउडरअच्छी तरह मिला लीजिए।इसे आपको रोजाना दिन में दो बार किसी भी समय पीना चाहिए।इसे पीने से कम से कम आधा घंटे पहले और बाद तक कुछ नहीं खाए ।

इसे पीए इसे पीते ही बॉडी में शुगर लेवल कंट्रोल में होने लगते हैं।10 से 15 दिन में इसका इतना इफेक्ट हो जाता है कि ब्लड शुगर लेवल नॉर्मल रहने लग जाता है।इसे आप लगातार लंबे समय तक ले सकते हैं।इससे बहुत ही जल्दी डायबिटीज ठीक हो जाती है।

2. दूसरा है लौकी का एक खास घरेलू उपचार जो डाइबिटीज में तुरंत ही फायदा करता है। डाईबिटीज के लिए आपको लौकी का जूस बनाकर पीना है। लौकी का जूस निकालने से पहले लौकी को चखकर देख लें कि लौकी कड़वी तो नहीं है।

लौकी

लौकी कड़वी लगे तो उस लौकी का जूस नहीं निकालें। लौकी का जूस निकालने के लिए स्वाद में मीठी लौकी ही काम में लेनी चाहिए।लौकी का जूस बनाने के लिए एक लौकी को साफ पानी से अच्छी तरह धो लीजिए।

अब लौकी के मोटे टुकड़े काट लीजिए। आपको जूस निकालने के लिए एक कटोरी लौकी लेनी है।इस एक कटोरी लौकी को मिक्सी में डालिए और थोड़े पानी के साथ पीस लीजिए।अगर आपके पास जूसर है तो आप लौकी को जूसर में डाल कर भी जूस निकाल सकते हैं।इस तरह लौकी का जूस निकल आएगा। अब आप इस लौकी के जूस की दो चम्मच एक कटोरी में ले लीजिए।

इसमें आपको आंवले का रस मिलाना है। आंवले का जूस आपको किसी भी आयुर्वेदिक दवा की दुकान पर आसानी से मिल जाएगा।आप इस लौकी के जूस में एक चम्मच आंवले का रस मिला लीजिए।बस आपके डायबिटीज की दवा बनकर तैयार है। इसे आपको रोजाना दिन में एक बार किसी भी टाइम लेना है।इसे लेते ही डाइजेशन सिस्टम ठीक होना चालू हो जाता है।

पहले ही दिन से डायबिटीज में फायदा होना चालू हो जाता है। खून में शुगर का लेवल कंट्रोल में रहने लग जाता है। यह एकदम से बॉडी में शुगर लेवल को बढने नहीं देता, जिससे जान का खतरा नहीं रहता।एक महीने तक इसे लेने से डायबिटीज में काफी हद तक फायदा हो जाता है। लगातार इसे लेते रहने से डायबिटीज ठीक हो जाती है।लौकी का रस लेते समय यह ध्यान रखें कि लौकी या लौकी का रस कड़वा बिल्कुल भी नहीं होना चाहिए। लौकी का रस पीने से पेट साफ होने लगता है।

इसलिए शुरू में हो सकता है कि आपको लगे कि पेट खराब हो गया है, लेकिन ये पाचन तंत्र को ठीक कर रहा होता है। चार पांच दिन में अपने आप ठीक हो जाता है।अगर उससे ज्यादा दिन तक ऐसा होता रहे या कोई और तकलीफ हो जाए तो इसे कुछ दिनों के लिए पीना बंद कर देना चाहिए।फिर से कुछ दिनों बाद इसे पीना चालू करना चाहिए।

3. डायबिटीज के लिए तीसरा नुस्खा तैयार करने के लिए आपको चाहिए। मेथी दाना, तेजपत्ता और जामुन की गुठलियों का पाउडर ।

जामुन

25 ग्राम मेथी दाना और 25 ग्राम तेजपत्ता को मिक्सी में एकसाथ पीसकर पाउडर बना लीजिए ।

अब इस मिक्सर में आपको मिलाना है। 50 ग्राम जामुन के गुठलियों का पाउडर जो कि आयुर्वेदिक स्टोर्स पर या ऑनलाइन बड़ी आसानी से मिल जाता है।इस तरह से डायबिटीज के लिए एक जबरदस्त घरेलू नुस्खा बन जाता है। आप इसे एयरटाइट जार में भरकर रख लीजिए। इस पाउडर के एक चम्मच को आपको रोजाना सुबह खाली पेट हल्के गरम पानी के साथ खाना है।यह नुस्खा डायबिटीज को खतम करने के लिए कई सदियों से काम में लिया जाता रहा है।

जामुन में ऐसे गुण होते हैं जो बॉडी में शुगर के लेवल को तुरंत कंट्रोल करके नॉर्मल कर देते हैं और साथ ही ये इंसुलिन के लेवल को भी नॉर्मल कर देते हैं।

मेथीदाना का पाउडर टाइप वन और टाइप टू दोनों तरह के डायबिटीज को ठीक करने के लिए रामबाण औषधि का काम करता है।तेजपत्ता भी शुगर लेवल को कम करता है और डायबिटीज के कारण होने वाले कई खतरनाक हेल्थ प्रॉब्लम्स को तेजी से कम कर देता है।

Also Read पथरी का घरेलू इलाज

इस नुस्खे को आपको रोजाना लगातार लंबे टाइम तक यूज करनाहै। इसको यूज करना अब करते हैं। ये अपना असर दिखाना चालू कर देता है और शुगर लेवल कंट्रोल में रहने लगते हैं।जिनको इंसुलिन की कमी रहती है। उनका इंसुलिन बनने का सिस्टम भी धीरे धीरे ठीक हो जाता है।इस तरह दोनों टाइप के डायबिटीज इस नुस्खे के यूज से ठीक हो जाते हैं। आप इस नुस्खे को यूज कीजिए और अपनी डायबिटीज की बीमारी से छुटकारा पायें।

Leave a Reply