Desi kahani 2 : रूठी सास को मनाए कौन

Desi kahani 2 : रूठी सास को मनाए कौन विद्या जी आज भी रुठी हुई थी और खाना नहीं खा रही थी। राखी कितनी बार तो उन्हें मना चुकी थी पर वो थी कि मान ही नहीं रही थी।” कहा ना एक बार तुझे कि मुझे खाना नहीं खाना है। एक बार सुनाई नहीं देता

Hindi kahani : थोड़ा सा समय निकाल कर पढ़िएगा जरूर

Hindi kahani : थोड़ा सा समय निकाल कर पढ़िएगा जरूर मैं एक घर के करीब से गुज़र रहा था की अचानक से मुझे उस घर के अंदर से एक बच्चे की रोने की आवाज़ आई। उस बच्चे की आवाज़ में इतना दर्द था कि अंदर जा कर वह बच्चा क्यों रो रहा है, यह मालूम

Desi Kahani थोड़ी सी बेवफाई

Desi kahani: ‘हाय, पहचाना.’ व्हाट्सऐप पर एक नए नंबर से मैसेज आया देख मैं ने उत्सुकता से प्रोफाइल पिक देखी. एक खूबसूरत चेहरा हाथों से ढका सा और साथ ही स्टेटस भी शानदार… जरूरी तो नहीं हर चाहत का मतलब इश्क हो… कभीकभी अनजान रिश्तों के लिए भी दिल बेचैन हो जाता है. मैं ने